bewafa pyar shayari

Welcome to our website. We write new and heart touching shayari on our website every day, today in this episode we have written a post on bewafa pyar shayari,  we have written 20+ Bewafa Pyar Shayari In this post.


फुटपाथों पर जो जिन्दगी जवान होती है ।
अक्सर देखा है कि बदनाम होती है ।
लाजिमी है कि तुम सोच को बदलो अपनी ।
कामयाबी मंजिल नहीं पायदान होती है ।।

futpathon par jo zindagi jawan hoti hai,
aksar dekha hai ki badnam hoti hai,
lazimi hai ki tum soch ko badlo apni,
qamyabi manzil nhi paydaan hoti hai.
bewafa shayari

bewafa pyar shayari

 

ऊँचा उठना है तो तितली से सबक सिख लो ।
कद छोटा मगर ऊँची उड़ान होती है ।।
खुद को जो मिटा देते हैं दूसरों के लिए ।
उन्हीं की सबसे अलग पहचान होती है ।।

ooncha uthna hai to titli se sabak lo,
qad chota magar oonchi udaan hoti hai,
khud ko jo mita dete hain doosron ke liye,
unhee ki sabse alag pehchan hoti hai.
bewafa shayari

आज फिर मेरे कदम हैं सू – ए – मैखाना ।
फिर साकी सामने होगा और होगा पैमाना ।।
तूने जो दर्द दिया उसकी दवा है यही ।
जाम ही तो भुलाता है सनम गमे जाना ।।

aaj fir mere qadam hain soo-e – mekhana,
fir saaqi ssamne hoga aur hoga pemana,
toone jo dard diya uski dawa hai yahi,
jqqm hi to bhulata hai sanam game jana.
bewafa ghazal shayari

bujh gayi ummid ki timtimati shama,
mehfil main reh gaya bas dhua hi dhuan,
chal kahein aur is sheher se door kaheen,
yahan har aadmi hai ajnabi aur badguman.
bewafa shayari urdu


bewafa pyar shayari in hindi and english font:-


शुक्र तेरा कि बचाया मुझे गुनाह से ।
मेरे खुदा तूने मुझको बहकने न दिया ।।
अपने करम से संवार दी मेरी हयात ।
कदमों को मेरे कभी तूने भटकने न दिया ।

shukr tera ki bachaya mujhe gunah se,
mere khuda toone mujhe behkne na diya,
apne karam se sawar di meri hayat,
kadmo ko mere kabhi toone bhatakne naa diya.
bewafa ghazal shayari

उड़ गया आस कर पंछी डाल से ।
दिल बहलाते हैं तेरे ख्याल से ।।
अच्छा हुआ तुमने दामन छुड़ा लिया ।
हम बच गए आने वाले भूचाल से।

ud gaya aas kar panchi daal se,
dil behlate hain mere khayal se,
accha hua tumne daaman chuda liya,
hum bach gaye aane wale bhoochal se.
bewafa pyar shayari

दिल टूटने का ज़रा भी मलाल नहीं ।
अजीब शख्स है उसे कुछ ख्याल नहीं ।।
सवाल यह है कि वह क्यों जुदा हुआ ,
वह बेवफा है यह कोई सवाल नहीं ।

dil tootne ka zara bhi malal nhi,
ajeeb shaks hai use kuch khayal nhi,
sawal ye hai ki wo kyun juda hua,
weh bewafa hai yeh koi sawal nhi.
bewafa shayari urdu

उम्मीदों का हश्र कुछ अजीब हुआ ।
अजीज समझे थे जिसे रकीब हुआ ।।
ये कैसा मोड़ राहे जिन्दगी में आया।
मुझसे अलग होकर वो गैर के करीब आया ।।

ummidon ka hashr kuch ajeeb hua,
azeez samjhe the jise raqeeb hua,
ye kesa mod raahe zindagi main aaya,
mujhse alag hokar wo ger ke qareeb aaya.
bewafa pyar shayari


bewafa pyar shayari for all shayari lovers:-


तुमने सबक वफा का सिखाया क्यों था ।
दीवाना अपना मुझे तुमने बनाया क्यों था ॥
छोड़ जाना ही था अगर बीच राह में साथ ।
तो ऐ बेवफा तू मेरे साथ आया क्यों था ।

tumne sabak wafa ka shikhaya kyun tha,
deewana apna mujhe tumne banaya kyun tha,
chod jana hi tha agar beech raha main sath,
to e bewafa too mere sath aaya kyun tha.

bewafa pyar shayari in hindi

जाते – जाते भी वह दगा दे गया ।
उम्र भर तड़पने की बदुआ दे गया ।
खुद चला गया वह जिन्दगी से मेरी ।
मेरे होठों पर जिक्रे वफा दे गया ।

jaate jaate bhi weh daga de gaya,
umr bhar tadapne ki baddua de gaya,
khud chala gya wo zindagi se meri,
mere honto ko zikre wafa de gaya.

कब तक तेरी यादों से दिल बहलाऊँ ।
जी करता है , कि आज ही मर जाऊँ ।।
सकून किसी सूरत में अब मिलता नहीं ।
कब तक जख्मे दिल को यूं ही सहलाऊँ ।।

kab tak teri yaadon se dil behlaoon,
jee katra hai ki aaj hi mar jaaon,
sukoon kisi soorat main ab milta nhi,
kqb tak zakhme dil ko yoon hi sehlaaon.

बेवफाई शामिल नहीं मेरी फितरत में ।
फरेब नहीं है कोई मेरी मुहब्बत में ।।
मांगना किसी से खुद्दारी को गंवारा नहीं ।
मैं बहुत खुश हूँ अपनी गुरबत में ।।

bewafai shamil nhi meri fitrat main,
fareb nhi hai koi meri mohabbat main,
maangna kisi se khuddari ko gawara nhi,
main bhut khush hoon apni gurbat main.

बुझ गई उम्मीद की टिमटिमाती शमां ।
महफिल में रह गया बस धुआं ही धुआं ।।
चल कहीं और इस शहर से दूर कहीं ।
यहाँ हर आदमी है अजनबी और बदगुमां ॥


बेवफ़ा प्यार शायरी हिंदी और इंग्लिश फॉण्ट के साथ:-


कौन आवाज दे रहा है तन्हाई में ।
किसकी पायल छनकी सूनी अंगनाई में ।।
मुझसे जुदा होकर परेशान है वह भी ।
नाम उसका भी शामिल है मेरी रुसवाई में ।।

koun aawaz de raha hai tanhai main,
kiski payal chanki sooni angnai main,
mujhse juda hokar pareshan hai wo bhi,
naam uska bhi shamail hai meri ruswai main,

हादसा वह एक गुजरते गुजरते रह गया ।
वह दिल में उतरते – उतरते रह गया ।।
कल जब चांदनी में उसने छेड़ी कोई ग़ज़ल ।
चांद पहलू में सिमटते – सिमटते रह गया ।

haadsa wo ek guzarte guzarte reh gaya,
woh dil main utarte utarte reh gaya,
kal jab chandni main usne chori koi gazal,
chand pehloo main simat te simat te reh gaya,

इस नजर से महफिल में देखा उसने मुझे ।
दिल में शोला भड़कते – भड़कते रह गया ।।
शर्म ने पकड़ कर रोक दी उंगलियां यार की ।
खत मुझे वह लिखते – लिखते रह गया ।

is nazar se mehfil main dekha usne mujhe,
dil main shola bhadakte bhadakte reh gaya,
sharam ne pakad kar rok di ungliyan yaar ki,
khat mujhe weh likhte likhte reh gaya.

हाथ उठाये उसने जैसे ही अंगड़ाई के लिये ।
फूल चमन में खिलते – खिलते रह गया ।।
बज्मे यारा सजी थी कि शमा बुझ गई ।
कोई परवाना जलते – जलते रह गया ।।

hath uthaye usne jese hi angdai ke liye,
phool chaman main khilte khilte reh gaya,
bazme yara saji thi ki shama bujh gayi,
koi parwana jalte jalte reh gaya.

 


हमारी वेबसाइट पर पधारने के लिए धन्यवाद।अगर आप शायरी images hd quality में चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज shayarei पर ज़रूर विजिट करें।


 

Leave a Reply