हिंदी शायरी

शायरी की दीवानगी प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है।
आज के आधुनिक दौर में जिस तेजी से इंटरनेट का विकास हुआ है।
उसी तेज़ी से शायरी में रूचि रखने वालों का रुझान भी इंटरनेट की तरफ आया है।
क्योंकि इंटरनेट पर हर विषय पर शायरी मौजूद है।
किसी भी भाषा में शायरी पड़ना हो तो कहीं और जाने की ज़रूरत नही अपना मोबाइल उठाएं और इंटरनेट पर शायरी सर्च करें ।
दुनिया भर में शायरी पड़ने वालों की तादाद अगर किसी देश में सबसे अधिक है तो वो हिंदुस्तान ही है।
और हिंदुस्तान में हिंदी भाषा में सर्वाधिक शायरी की खोज इंटरनेट पर की जाती है।
शायरी दरअसल ग़ज़ल या कविता का एक हिस्सा होता है।

और शायरी की खासियत ये होती है कि कोई भी व्यक्ति चंद अल्फ़ाज़ों में शायरी के माध्यम से अपनी दिल की बात सामने वाले तक पुहंचा देता है।
हिंदुस्तान में हर दौर में शायरी लिखने वाले मशहूर शायर हुए हैं।
इन शायरों में आज के दौर के हिंदी शायर डॉ कुमार विश्वाश हैं।
जिनकी शायरी हिंदी भाषी लोगों के दिलों में घर कर जाती है ।

हमने शायरी प्रेमियों की शायरी के प्रति रूचि को देखते हुए सही शब्दों के उच्चारण के साथ ही भाषा शैली का ध्यान रखते हुए हिंदुस्तान के मशहूर हिंदी शायरों की शायरी को सरलता से प्रस्तुत करने की कोशिश की है।हम हिंदी में दोस्ती शायरी,लव शायरी,बेवफाई शायरी,याद शायरी ,ग़ालिब की शायरी, तिरंगे के ऊपर शायरी, 2 लाइन शायरी,अलोन शायरी और भी अन्य कई प्रसंग पर समय समय पर प्रस्तुत करते रहेंगे।


 

बेस्ट हिंदी शायरी

हिन्दुस्तान में शायरी पसंद करने वाले लोग बहुत ज़्यादा हैं। आज के दौर में लोग अलग अलग विषय पर इंटरनेट के माध्यम से शायरी खोजते है। विश्व में सबसे अधिक शायरी हिंदी भाषा में ही पढ़ी जाती हैं हालांकि उर्दू शायरी के पड़ने वालों की तादाद भी है लेकिन हिंदी शायरी पड़ने वालों के मुक़ाबले में ये संख्या बहुत कम है ।आज हमने अपनी पोस्ट में कुछ मशहूर शायरों की बेहतरीन और बेमिसाल हिंदी शायरी को अलग अलग विषयों जैसे दोस्ती शायरी,प्यार भरी शायरी आदि लिखने की कोशिश की है ।चलिए पड़ते हैं कुछ बेस्ट हिंदी शायरी:-


बात ही नहीं करनी है जब उनको हमसे,
तो हमसे नाराज़ है ये बहाना कैसा।
बेस्ट हिंदी शायरी

बेस्ट शायरी

तकिया गवाही देता है कि रात अभी बाकी है,
मुझे भी हुआ था प्यार कभी,बस बात थोड़ी पुरानी है।

चलो इस बेफिक्र दुनिया को खुल कर ज़ी लेते है,
सब काम छोड़ो आओ पहले चाय पी लेते है ।

कभी सेहर के बाद शाम हो मेरी,
चाय पर बुलाऊ तुम्हें,अभी तो,
दिन और रात के चक्कर में उलझा हूँ।

Continue Readingबेस्ट हिंदी शायरी